Learn More

C Program Structure | C प्रोग्रामिंग भाषा का Structure | Hindi

C language के program बनाने से पहले C langauge के programing structure को भी जान लेना बहुत जरूरी होता है जिस से बाद आपको पता चलता रहे की इस प्रोग्राम में हर step में क्या क्या हो रहा हैं ।

इस tutorial में हम C प्रोग्राम के structure के बारे मैं सीखेंगे की किस तरह से C प्रोग्राम (Program) बनाये जाते हैं।

जब हम किसी भी programing भाषा को सीखते हैं तो सबसे पहले समझते हैं आखिर प्रोग्राम को लिखने का क्या पैटर्न होता हैं यदि आपको प्रोग्राम लिखने का पैटर्न ही नही पता होगा तो आप कोई भी कोड को अच्छे से नही समझ पाओगे ।

चलिए C प्रोग्राम के एक basic से उदाहरण से C programming के structure को समझते हैं ।

C Program structure | Hindi

C प्रोग्राम का structure वह structure होता हैं जिसमे हम सभी step और कोड को समझ सकते हैं ।

चलिए एक उदाहरण से समझते हैं –

C simple प्रोग्राम Hello World 

जब हम C प्रोग्राम बनाते हैं तो उसमे कई पार्ट होते हैं जिनको समझना काफी जरूरी हैं ।

जैसे -  Preprocessor Commands , Functions , Variables, Statements & Expressions , Comments

इन सभी पार्ट को हम एक उदाहरण से समझते हैं ।


#include <stdio.h>
void main()
{

   /* Hello World program in C in hindi */
   printf("Hello, World in C programming n"); 
}

उपर हमने एक बहुत ही साधारण सा C program बनाया हैं चलिए अब इस प्रोग्राम के structure को समझते हैं ।

  1. जब हम C को अपने कंप्यूटर पर install करते हैं तब हमारे पास बहुत सारी C प्रोग्रामिंग की लाइब्रेरी आजाती हैं जिनका उपयोग करके अलग अलग तरह के टास्क (task) को पूरा किया जाता हैं । सबसे पहली लाइन जिसमे #include <stdio.h> हैं इसे हम preprocessor command कहते हैं । preprocessor command के द्वारा लाइब्रेरी फाइल को प्रोग्राम पर apply करवाया जाता हैं जिससे उस लाइब्रेरी की functionality का हम उपयोग कर सकते हैं । Preprocessor command कम्पाइलर को stdio.h फाइल को compile से पहले शामिल (include) करने के लिए कहती हैं । इसी तरह से अलग अलग तरह की फाइल होती हैं जो की आवश्यकता अनुसार उपयोग में लायी जाती हैं । 
  2. दूसरी लाइन में हमने void main() function का उपयोग किया हैं जिसका मतलब हैं की यहाँ से हमारा C program execute होना शुरू होता हैं । 

Void main () एक parent function हैं यानि की यह सभी function का parent fuctionality हैं जो की प्रोग्राम के स्टेटस , प्रोग्राम execute होगा की नही या फ़ैल होगा ये सब प्रोसेस करता हैं ।

३. जब हम बड़े बड़े प्रोग्राम बनाते हैं तो वहां पर कुछ instructions या उस कोड lines को मार्क करते हैं की यह प्रोग्राम का कोनसा पार्ट है और किसलिए उपयग में लाया जा रा हैं उसके लिए हम comment का उपयोग  करते हैं । C प्रोग्रामिंग language में comment को लिखने के लिए कुछ इस तरह के symbols /*.......*/ का उपयोग करते हैं और उसके बिच में जो लिखना हैं लिखा देते हैं /* This is my first program of C language*/  . अब कम्पाइलर को यह पता रहता हैं की यह comment हैं तो कम्पाइलर उस लाइन को ignore(अनदेखा) कर देता हैं और या comment की गयी लाइन output में दिखाई भी नही देती हैं क्युकी कम्पाइलर इसको अनदेखा कर देता हैं ।

4. Void main() function के बाद हमने curly brace { } sign को ओपन करके function के आखिर में  क्लोज भी किया हैं क्युकी यह function का ब्लाक होता हैं जिसमे function की सभी functionality होती हैं इसलिए जब भी कोई function बनाते उपयोग करते हैं तो वहां पर curly brace { } sign का उपयोग करते हैं । function का सारा काम हो जाने के बाद आखिर में function ब्लाक को बंद कर दिया जाता हैं ।

 ५. इससे अगली लाइन में हमने printf() का उपयोग किया हैं printf() एक function हैं जिसे हम redymade function भी कहते हैं जो C programming लाइब्रेरी में पहले से बनाया  गया हैं जिसको सिर्फ लिख कर उपयोग कर सकते हैं । printf() का काम statement को स्क्रीन पर डिस्प्ले करना होता हैं । यदि आपको कोई भी वैल्यू को डिस्प्ले करना हैं तब आप C langauge में printf() का उपयोग  कर सकते हैं ।

इस तरह से आपने C programming structure के सभी पार्ट को समझा जिनको समझना काफी जरूरी था यदि आप C language के program लिखने जा रहे हैं ।

चलिए एक और उदाहरण से समझते हैं जिसमे हम int main() का उपयोग करने वाले हैं ।


#include <stdio.h>
int main()
{
   /*Hello Word program in C langauge */
   printf("Hello, World! n");
   return 0;

}
  1. उपर दिए गए उदाहरण में हमने void mein() की जगह int main() function लिया हैं int main 'का अर्थ है कि हमारे फ़ंक्शन को निष्पादन (execution ) के अंत में कुछ पूर्णांक (integer) वापस करने की आवश्यकता है और हम program के अंत में 0 return  करके ऐसा करते हैं। "Program  के सफल execution " के लिए standard है जो की int value return करता हैं ।
  2. यहाँ पर आखिर में एक लाइन लिखी हैं return 0 जो की main () function को terminate(समाप्त) करती हैं और 0 वैल्यू return करती हैं ।
  3. C programming में main() function होता होता हैं void और int दोनों main() function के return type कहलाते हैं 

Previous Posts:-