Learn More

Run C program on local computer using IDE | setup Environment variables | Hindi  

C programming language  के program को run (execute) करने के लिए हमे कम्पाइलर  (Compiler of C ) की जरूरत पड़ती हैं । इस tutorial में हम IDE  (Integrated Development Environment) का उपयोग करके एन्विरोमेंट सेटअप (Enviroment Setup )के बारे में सीखेंगे जिसके द्वारा  हम आसानी से अपने C तथा C++ के प्रोग्राम को execute कर पाएंगे । इस tutorial में हम DEV C++ टूल को कंप्यूटर मशीन पर इनस्टॉल  (Install) करके किस तरह से  DEV C++ Environment variables setup करके प्रोग्राम को किस तरह से local computer पर run करना ये सब सीखेंगे ।

सबसे पहले कुछ अहम् हैडिंग को समझते हैं ।

C Compiler क्या होता हैं । 

पिछले C प्रोग्रामिंग tutorial में हमने सिखा था की C प्रोग्रामिंग एक high level language हैं जिसमे English word , symbols और डिजिट का उपयोग किया जाता हैं परन्तु computer मशीन को समझाने के लिए high level कोड को low level बाइनरी फॉर्म में बदलना पड़ता हैं । C प्रोग्राम को high level से low level language में convert करने के लिए कम्पाइलर का उपयोग किया जाता हैं ।

साधारण Hindi भाषा में यदि आप कोई प्रोग्राम बनाते हैं अब आप प्रोग्राम English words , digits या symbols का उपयोग करके ही तो बनाते हो पर कंप्यूटर तो बाइनरी code(01 form)  को समझता हैं कंप्यूटर को तो ये समझ नही आएगा इसलिए वहां पर हम एक कम्पाइलर (compiler) का उपयोग करते हैं की जो हमने प्रोग्राम लिखा हैं use कंप्यूटर को binary कोड में convert  करे जिस से कंप्यूटर मशीन उस पर कोई action ले सके ।

C कम्पाइलर एक mediator की तरह का काम करता हैं जो की user और कंप्यूटर machine के बिच होना जरूरी हैं जिस से user को भी आसानी हो समझने में और कंप्यूटर को भी आसानी हो समझने में ताकि कंप्यूटर instructions के अनुसार आउटपुट दे सके क्युकी कंप्यूटर मशीन सिर्फ बाइनरी  कोड जो 0 या 1 की फॉर्म में होता हैं उसी को ही समझता हैं अब यदि हम 0 और 1 के कोड करे तो ये काफी कठिन होता हैं जिसको समझने  के लिए कंप्यूटर मशीन के आन्तरिक और बहरी structure को समझना आना चाहिए इसलिए यहाँ पर compiler ही एक अहम् भूमिका निभाता हैं जो C प्रोग्राम को कम्पाइल करके बाइनरी कोड में convert कर देता हैं। जिस से कंप्यूटर मशीन को वह समझ आजाता हैं ।

C प्रोग्राम को कम्पाइल करने के लिए काफी कम्पाइलर आपको इन्टरनेट पर ही मिल जायेंगे जिनको windows पर उपयोग किया जा सकत हैं । जैसे- GCC compiler, clang, Digital mar, Ritchie C Compiler, CCS C Compiler आदि ।

चलिए अब हम  DEV C ++ को इनस्टॉल करके c प्रोग्राम को compile और execute करना सीखते हैं ।

RUN C program on local computer using DEV C++ IDE(Integrated Development Environment) Hindi 

DEV C++ एक फ्री IDE जिसके द्वारा  C और C ++ प्रोग्राम को compile और run किया जा सकता हैं । DEV C++  windows और लिनिक्स(Linux) पर काम करता हैं । DEV ++ tool में GCC compiler compiler होता हैं जिसके द्वारा  C और C++ के programs को compiler और execute किया जाता हैं । GCC compiler के अलावा आप अन्य C compiler भी उपयोग कर सकते हैं पर हम यहाँ पर GCC compiler  का उपयोग करके ही C प्रोग्राम को रन करना सीखेंगे ।

DEV C++ को setup करने के लिए निचे कुछ step दिए गए हैं जिहे एक के बाद एक follow करने पर आप सफलतापूर्वक C प्रोग्राम को अपने local कंप्यूटर ( Local machine) पर रन करना सिख जाओगे ।

Step 1- सबसे पहले step में DEV C++ को डाउनलोड करना हैं । निचे दी गयी कुछ links से आप DEV C++ को अपने कंप्यूटर पर डाउनलोड कर सकते हैं ।

https://bloodshed-dev-c.en.softonic.com/download

https://www.bloodshed.net/

 

यदी आपको DEV C++ इन लिंक पर नहीं मिलता हैं तो आप direct Google पर DEV C++ लिखा कर सर्च करके डाउनलोड कर सकते हैं ।

Step 2-  DEV C++ IDE exe फाइल में डाउनलोड होगी । अब उस फाइल को इनस्टॉल करना हैं। इनस्टॉल करके के लिए डाउनलोड हुई फाइल पर क्लिक करे ।

Step3-  अगले step में आपको डेस्टिनेशन (Destination) को सेलेक्ट करना हैं । क्युकी ये डेस्टिनेशन (Destination) path आप enviroment variable को सेट करने में भी उओयोग करोगे ।   अब अप C:Dev-Cpp  डेस्टिनेशन पर अपना सॉफ्टवेर इनस्टॉल कर दीजिये । यह काफी सिंपल होगा जब हम enviroment path को सेट करेंगे ।

Install Dev C++ tool

Step 4- जब DEV C++ इनस्टॉल हो जाये तो फिर हम enviroment variable को सेट करते हैं । Enviroment variable को सेट करने के लिए आपको click on My Computer -> properties -> advanced system settings -> और फिर Environment Variables पर क्लिक कर देना हैं । 

यदि आपको फिर भी Enviroment variables का option नही मिलता हैं तो इसका दूसरा तरीका हैं जिसके लिए सबसे पहले आपको अपने कण्ट्रोल पैनल (control panel) पर जाना हैं कण्ट्रोल पैनल आप सर्च कर सकते हैं या window start आइकॉन पर क्लिक करके कण्ट्रोल पैनल देख सकते हैं ।  फिर आपको system and security -> system फिर left साइड में advance system settings पर क्लिक करना हैं । यदि आपको फिर भी advance system settings नही मिलता हैं तो कण्ट्रोल पैनल पर वापस जाइये और right top में एक search बार होगा उसमे advance system settings लिखिए जिससे आपके सामने advance system settings option आजायेगा ।

अब आपको यहाँ पर enviroment variables option पर क्लिक करना हैं ।

Enviroment variable setup for C program execution

Step 5- यह step काफी महत्त्वपूर्ण हैं यदि आपने java के लिए enviroment सेट किया हो तो उसमे भी एन्विरोमेंट variables को सेट करते हैं ।

अब आपके सामने 2 field (textbox) खुलके आयेंगे ।

पहले फील्ड में आपको variable नाम देना है जो की PATH होता हैं और दुसरे textbox में variable की वैल्यू देनी होती हैं ।

variable की वैल्यू वह होती हैं जिस Path पर आपने DEV C++ को इनस्टॉल किया था ।

Variable name=    PATH

Variable value =    C:Dev-Cpp

अब इसे OK करके कम्पलीट कर देना हैं ।

Enviroment variable Path setup for C program

Step 6- अब आपको DEV C++ को ओपन कर लेना हैं । अब File -> new -> project  पर जाकर कंसोल (Console) और C project को सेलेक्ट कर लेना हैं ।  Project का नाम आप कुछ भी दे सकते हैं या प्रजेक्ट 1 भी रख सकते हैं। 

Run c program using IDE on local computer

Step 7 – इस step में आप एक सिंपल c प्रोग्राम( C program) लिखे –


#include <stdio.h>
#include <stdlib.h>

void main() {

printf("This is my first Program");

}
C program

उपर window हैडर में बहुत सारे आइकॉन दिए होंगे उनपर माउस पॉइंटर ले जाने से पता चल जायेगा की कोन सा आइकॉन किसलिए उपयोग में लाया जाता हैं ।

अब इस प्रोग्राम को सेव कीजये ।

सेव करते टाइम आपके प्रोग्राम का नाम और साथ में .c extension जरुर दे ।

जैसे – प्रोग्राम का नाम लेते हैं myprogram तब हम कुछ इस तरह से सेव करते  हैं ।

myprogram.c

save c program

Step 8 – C program सेव करने के बाद प्रोग्राम को compile और रन करना पड़ता हैं जिससे यदि कोई error हो तो दिख जाती हैं और प्रोग्राम error हटा कर run कर सकते हैं ।

अव सबसे उपर आपको execute option मिलता हैं हैडर में उसपर क्लिक करने पर compile & run का आप्शन मिलता हैं उसपर क्लिक कीजिये जिससे पहले प्रोग्राम कम्पाइल होगा फिर रन (Execute)  होकर एक prompt पर आपका output मिल जाता हैं ।

compile & run करने के लिए DEV C++ हैडर में एक बॉक्स नुमा आइकॉन दिया हैं जिसे भी क्लिक करके C program को कम्पाइल & रन किया जा सकता हैं ।

Run c program and output on console

इस तरह से आप अपने local कंप्यूटर पर कितने भी C और C++ के प्रोग्राम को execute कर सकते हैं इसे हम local कोड रनर भी कहते हैं ।

 

Recommended Posts:-

Previous Posts:-