Learn More

HTML5 के फीचर्स और उपयोग

HTML5, HTML language का पांचवा version इस से पहले भी HTML के कई versions आ चुके हैं इसमें सबसे एडवांस version HTML5 हैं । HTML5 में कई (features)फीचर्स include हुए हैं ।

HTML5 को 28 अक्टूबर 2014 में लाया गया । ये एक सबसे अच्छा version अब तक का रहा हैं इसमें बहुत सारे फीचर्स को ऐड किया गया और HTML 4.01 की खामियों को भी दूर किया गया हैं । HTML5 multimedia को सपोर्ट करने के साथ साथ इसमें कुछ अलग फीचर्स को भी ऐड किया गया हैं ।
हम यहाँ पर उन सभी HTML5 फीचर्स के बारे में सीखेंगे ।


साधारण Hindi भाषा में समझे तो ये HTML5 अब तक का सबसे अच्छा और एडवांस version हैं जिसमे गेम डेवलपमेंट में भी बहुत ज्यादा फायदा हुआ हैं । HTML5 के द्वारा मोस्ट एडवांस गेम्स को भी बनाये जाते हैं ।
चलिए अब बात करते हैं की HTML5 में कौन कौन से फीचर ऐड हुए हैं

HTML5 के फीचर्स और उनके उपयोग -


HTML5 में बहुत सारे फीचर्स को ऐड किया गया जैसे मल्टीमीडिया features ,(Graphical)ग्राफिकल फीचर्स ।
HTML5, HTML4.01 में मल्टिमीडिए के कोई भी फीचर्स नहीं थे न ही उसमे ग्राफिकल फीचर थे।


HTML5 के मल्टीमीडिया feature के element-

<video>
<audio>

<audio> - HTML5 में ऑडियो को लिंक करने के लिए , ऑडियो को वेबपेज पर प्ले करने के लिए <audio> एलिमेंट को ऐड किया गया हैं ।

<video> - वीडियो एलिमेंट भी मल्टीमीडिया फीचर का ही पार्ट हैं जो की HTML5 में ऐड किया गया हैं । HTML5 , HTML4.01 में ये फीचर नहीं था की आप वीडियो को डायरेक्ट लिंक और प्ले कर सके उसके लिए आपको फ़्लैश का use करना पड़ता था परन्तु HTML5 में इस फीचर की वजह से वीडियो को भी आसनीं से लिंक करके डिस्प्ले किया जा सकता हैं । लिंक करके आसानी से प्ले भी किया जा सकता हैं ।

HTML5 के graphical फीचर -


HTML5 में ग्राफिकल फीचर को भी ऐड किया गया हैं जिसके द्वारा गेम्स (games) को भी आसानी से बनाया जाने लगा और वेबसाइट पर भी ग्राफ़िक बनाये जाने लगे । यह एक W3C की बड़ी कामयाबी थी ।

<SVG>- HTML5 salable vector graphics (SVG) को सपोर्ट करता हैं ।
यह feature बेहद ही ख़ास feature हैं ।
SVG के द्वारा कोई भी ग्राफ़िक को आसानी से draw किया जा सकता हैं ।
<SVG> को एलिमेंट के नाम से जाना जाता हैं ।


<canvas>- Canvas का use वेबसाइट पर ग्राफ़िक को draw करने के लिए किया जाता हैं ।


Your browser does not support the HTML5 canvas tag.

HTML5 में ग्राफिकल फीचर के साथ साथ कुछ अन्य स्ट्रक्चर एलिमेंट भी ऐड किये गए हैं ।
चलिए उन नए ऐड किये गए feature एलिमेंट के बारे में भी समझ लेते हैं ।


HTML5 के नए फीचर स्ट्रक्चर एलिमेंट -


HTML5 में वेबसाइट को अलग अलग एलिमेंट में बाटा गया हैं ।
सिंपल Hindi भाषा में समझे तो यदि आपको हैडर का कोड करना हैं तो हैडर <header> एलिमेंट के अंदर करना पड़ेगा और यदि आपको आर्टिकल लिखना हैं तो आपको <article> एलिमेंट का use करना पड़ेगा । इस से काफी आसानी हो जायेगा क्युकी आपको पता रहेगा की हैडर का कोड हैडर <header> एलिमेंट मैं होता हैं और आर्टिकल का <article> element में और ऐसे ही साइडबार का <aside> element में और भी बहुत सारे elements ऐड किया गया हैं । चलिए एक एक करके समझते हैं ।

<header> - वेबसाइट के हैडर पार्ट जिसमे वेबसाइट के टॉप का जितना भी कोड होगा बॉडी को छोड़कर वो सब हैडर <header> element में आता हैं ।

यह स्पष्ट है कि आप हेडर भाग (वेबसाइट के ऊपर) को <header> में देख सकते हैं

<nav> -जब भी आप कोई वेबसाइट देखते हैं तो आपको मेनू(menu) दिखाई देता हैं जिसमे पेज लिंक्स(links) होती हैं । या कह सकते हैं बिज़नेस के बारे में पेज मेनू होता हैं । वेबसाइट का मेनू को HTML5 में <nav> एलिमेंट के अंदर डिफाइन किया गया हैं । इसमें साफ़ होता हैं की मेनू लिंक के लिए <nav> एलिमेंट का use करते हैं ।
अब मेनू को हम <nav> एलिमेंट में डिफाइन करते हैं ।

<section> - एक वेबसाइट में कितने भी सेक्शन बना सकते हैं । सेक्शन एक ब्लॉग की तरह काम करता हैं जिसमे हम कम्पलीट ब्लॉक के लिए HTML code को डिफाइन करते हैं ।
सेक्शन से फायदा ये होते होता हैं की हम उस ब्लॉक कोड को आसानी से समझ सकते हैं और use भी कर सकते हैं ।
साधारण हिंदी में कहे तो सेक्शन <section> एक तरह से अलग कोड का पार्ट होता हैं ।


<article> - आर्टिकल एलिमेंट के नाम से ही समझ आता हैं की ये आर्टिकल को डिफाइन करते हैं । आर्टिकल एलिमेंट का use करके अलग अलग आर्टिकल HTML कोड को अलग अलग आर्टिकल एलिमेंट में use कर सकते हैं ।

<aside>- <aside> एलिमेंट HTML5 का एक अच्छा स्ट्रक्चर feature हैं जिसमे हम साइडबार को डिफाइन करते हैं ।
जितना भी साइडबार का कोड होता हैं वो सब <aside> element में लिखा जाता हैं । इसलिए ये समझना आसान रहता हैं की साइडबार का कोड <aside> में मिल जायेगा ।
HTML5 का ये फीचर बहुत ज्यादा यूज किया जा रहा हैं ।

<footer> - वेबसाइट में फुटर का पार्ट भी होता हैं । फुटर का पार्ट वो होता हैं जो वेबसाइट के सबसे निचे का पार्ट होता हैं जिसमे वेबसाइट के बारे में इनफार्मेशन ,नंबर्स ,एड्रेस आदि को सबसे निचे दिया जाता हैं ।

फुटर का जितना भी कोड आता हैं उसको <footer> एलिमेंट में डिफाइन किया गया हैं ।

HTML5 अब तक का best version रहा हैं क्युकी इसमें बहुत सारे नई features और स्ट्रक्टर फीचर्स ऐड हुए हैं जिस से वेबसाइट को डिज़ाइन करने और कोड को समझने में आसानी होती हैं ।

Recommended Posts:-